http://www.clocklink.com/world_clock.php

Saturday, December 26, 2009

नया साल

२ क्लास में पड़ने वाले मुन्ना ने

अपने बापू से पूछा,

बापू ये नया साल क्या होता है

बापू ने उसको गौर से देखा

फिर बोले , बेटा ये सब

पैसो वाले के लिए होता है

बापू हमरे पास पैसे कब होंगे,

जब तुम पढ़ लिख कर

नौकरी पर जाने लगोगे

फिर तो में खूब पढूंगा बापू

लेकिन एक बात है बापू

माँ कहती है की तेरे बापू

बहुत पड़े लिखे हैं

फिर बापू आप नौकरी

क्यूँ नही करते,

आप तो सब्जी की दूकान लगाते हो

बापू ने मुन्ना को डांट दिया,

और कहा, चुप रह,

बहुत बोलने लगा है...

पढाई पे ध्यान दे

जा जाके तू अभी पढ़,

इधर उधर दिमाग न लगा

शायद तेरी किस्मत

मेरी किस्मत से अच्छी हो

फिर हम भी नया साल मनाएंगे

2 comments:

संजय भास्कर said...

GAURAV VASHISHT ji
KAMAL KA LIKHTE HAI AAP...

संजय भास्कर said...

हर शब्‍द में गहराई, बहुत ही बेहतरीन प्रस्‍तुति ।