http://www.clocklink.com/world_clock.php

Saturday, May 12, 2012

"माँ" तुझे सलाम

Blog parivaar

जग में सबसे सुंदर है ये नाम
चाहे माँ कहो या राम
बोलो माँ माँ माँ
"माँ" एक पूरा पैकेज
हर समस्या का,
जिसके चेहरे पर ना दिखती
कभी कोई शिकन
उसे माँ कहते हैं
माँ आज भी मेरा
हाल-चाल पूछ ही लेती है,
बेटा ठीक से खाया कर
कित्ता कमजोर हो गया हे
पत्नि से कहती है
क्यूँ रि तू इसका खयाल
नहीं रखती....
देख् कित्ता कमजोर हो गया
गया है.. जबकि हक़ीक़त में मेरा
वजन पिछ्ले 10 सालों में 20 किलो
बढ़ गया है!
लेकिन माँ का क्या
वो माँ है ,
उसका प्यार
अंत हीन प्यार
कभी ना भुलाने वाला!
माँ तुझे सलाम!

8 comments:

संजय भास्कर said...

बहुत ही भावप्रणव रचना!
ममतामयी माँ को नमन!!

dheerendra said...

वो माँ है ,
उसका प्यार
अंत हीन प्यार
कभी ना भुलाने वाला!
माँ तुझे सलाम!

भावपूर्ण सुंदर अभिव्यक्ति

MY RECENT POST ,...काव्यान्जलि ...: आज मुझे गाने दो,...

Amrita Tanmay said...

माँ तुझे सलाम ! अति सुन्दर रचना..

expression said...

बहुत सुंदर.....................

माँ को सलाम....सिर्फ आज नहीं हर दिन.......
सादर.

ब्लॉ.ललित शर्मा said...

महतारी दिवस की बधाई

प्रवीण पाण्डेय said...

बहुत सच कहा आपने..

Shanti Garg said...

बहुत बेहतरीन व प्रभावपूर्ण रचना....
मेरे ब्लॉग पर आपका हार्दिक स्वागत है।

दिगम्बर नासवा said...

वाह क्या बात कही है .. माँ एक पूरा पैकेज ... सच ही तो कहा है ...